Poppy Flower in Hindi: पॉपी का फूल कैसा होता है, कैसे उगाते हैं, देखभल कैसे करते हैं? संपूर्ण जानकारी यहाँ से लें।


poppy flower in hindi

Poppy Flower in Hindi: पॉपी का फूल कैसा होता है, कैसे उगाते हैं, देखभल कैसे करते हैं? संपूर्ण जानकारी यहाँ से लें।

Poppy Flower in Hindi – भारत में कई तरह के फूल उगते है। कुछ फूलों को सजावट के लिए उगाया जाता है और कुछ फूलों को उनके फायदे के लिए। कई ऐसे भी फूल है जिनकी औषधियों को हम दवाइयों में इस्तेमाल करते है। आज हम एक ऐसे पौधे के बारे में बात करेंगे जिसे पॉपी का फूल कहते है। 

इस ब्लॉग में हम यह जानेंगे की पॉपी का फूल कैसा होता है, पॉपी का मतलब क्या होता है (Poppy Flower Meaning in Hindi), पॉपी के फूल को कैसे उगाते है, और इनकी देखभाल कैसे करते है।


पॉपी के फूल मतलब क्या होता है ? - Poppies Flower Meaning in Hindi

Poppy Flower in Hindi: पॉपी का फूल कैसा होता है, कैसे उगाते हैं, देखभल कैसे करते हैं? संपूर्ण जानकारी यहाँ से लें।

पॉपी एक फूल वाला का पौधा है जिसके फूल भड़कीले लाल रंग के होते है जिनमें छोटे काले रंग के बीज होते है। पॉपी को हिंदी में कई नामों से जाना जाता है जैसे की अफीम के फूल, पोस्ता, खसखस, इत्यादि।

Poppies Flower Meaning – पॉपी का मतलब अलग-अलग देशों में विभिन्न होता है। पॉपी को ईसाई धर्म में भगवान इशू के रक्त का लाल रंग माना जाता है जिसे सांत्वना और मृत्यु का एक प्रतीक कहा गया है। पॉपी को ब्रिटिश राज में एम्ब्लेम ऑफ रिमेंबरेंस (Emblem of Remembrance) कहा जाता है क्योंकि इंग्लैंड में पॉपी के फूलों का इस्तेमाल वर्ल्ड वॉर में हारे हुए लोगों के शरीर पर चढ़ाने के लिए किया गया था।

पॉपी का अन्य नाम (poppy flower name in Hindi) पोस्त, पोस्ता, खसखस, आदि
पॉपी फूल का आकार: 1 से 3 फीट लंबा
जैविक नाम: पापावर सोमनिफेरम (Papaver somniferum)
सूर्य की रोशनी की आवश्यकता: 6 घंटे
पौधे का परिवार: पापावरसा (Papaveraceae)
किस क्षेत्र में उगाया जाता है? इंडिया, चीन, तुर्की, अमेरिका
पॉपी को बढ़ने के लिए तापमान: 15 डिग्री से कम तापमान।
पॉपी का प्रसिद्ध नाम एम्ब्लेम ऑफ रिमेंबरेंस (Emblem of Remembrance)
ब्लूम टाइमं: वसंत की शुरुआत से गर्मियों तक

पॉपी का फूल कैसा होता है? - Poppy Ka Phool Kaisa Hota Hai

Poppy Flower in Hindi: पॉपी का फूल कैसा होता है, कैसे उगाते हैं, देखभल कैसे करते हैं? संपूर्ण जानकारी यहाँ से लें।

बाकी फूलों के तरह पॉपी का भी इस्तेमाल घर की सजावट के लिए किया जाता है। पॉपी के फूल चमकीले और भड़कीले लाल रंग के चमकदार फूल होते है जिनका इस्तेमाल घरों में सजावट करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा पॉपी के फूल का इस्तेमाल अफीम बनाने के लिए भी किया जाता है।

पोस्ता का फूल उगाने के लिए या खेती करने के लिए आबकारी विभाग से परमिशन लेनी होती है क्योंकि भारत में अफीम को उगाना गैर क़ानूनी माना जाता है। अफीम, पोस्ता के बीज से बना एक शक्तिशाली औषधि है जो अत्यधिक नशीला होता है।

पोस्ता के फूलों की खेती भारत, चीन, तुर्की, जैसे देशों में की जाती है। पोस्ता भारत में ज्यादातर राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के क्षेत्रों में उगाया जाता है। इसके अलावा पोस्ता को गुजरात के भी कई क्षेत्रों में उगाया जाता है।

पॉपी का पौधा कैसा दिखता है? - What does a poppy plant look like?

पॉपी का पौधा कई रंग का होता है। पॉपी का पौधा सुन्दर और आकर्षिक दीखता है जिसके तने से लम्बी पत्तियाँ निकलती है। पतियों का रंग हल्का हरा होता है और इनके बीच से पॉपी के फूल की कलियाँ निकलती है। कलियों का अकार गोल मटके जैसा होता है जो नीचे की तरफ झुका होता है।

Poppy Flower in Hindi: पॉपी का फूल कैसा होता है, कैसे उगाते हैं, देखभल कैसे करते हैं? संपूर्ण जानकारी यहाँ से लें।

जब पॉपी की कलियों में से फूल निकलने वाला होता है तो यह कलिया ऊपर की तरफ मूड जाती है और इनमें से कई तरह के फूल निकलते है जो नारंगी, लाल, बैंगनी, हलके गुलाबी और सफ़ेद रंग के होते है।

आमतौर पर पॉपी का पौधा 1 से 3 फीट लम्बा होता है और 1 से 2 फ़ीट चौड़ा। पॉपी का पौधा सर्दी वाले मौसम में आसानी से उगाया जाता है और इन्हें उन्हीं जगहों पर उगाया जाता है जहाँ सर्दियाँ पड़ती है।

पॉपी के फूल की देखभल कैसे करे? - How to Care Poppy Flower in Hindi?

पोस्ता के पौधे अपने खूबसूरत और नाजुक फूलों के लिए जाने जाते हैं, लेकिन उन्हें फलने-फूलने के लिए विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। अपने खसखस के पौधे की देखभाल कैसे करें, इसके कुछ सुझाव यहां दिए गए हैं।

इन सरल देखभाल युक्तियों के साथ, आप साल-दर-साल अपने खसखस ​​के पौधे की सुंदरता का आनंद ले सकते हैं। अपने पौधे को स्वस्थ और जीवंत बनाए रखने के लिए हमेशा उचित रोपण और देखभाल तकनीकों का पालन करना याद रखें।

पॉपी का पौधा कैसे उगाते है? - How to Grow Poppy Plant in Hindi?

पोस्ता का पौधा आप कहीं भी नहीं उगा सकते है। पोस्ता का पौधा उगने के लिए आबकारी विभाग की अनुमति लेनी होती है। हलांकि की पोस्ता की कुछ प्रजातियां घर में भी आसानी से उग सकती है जिसमें नशीले पदार्थ नहीं होते है। पोस्ता को उगाने के लिए पहले तापमान, जलवायु और मिट्टी का खासतौर से ध्यान रखना होगा।

Step-by-Step पोस्ता फूल का प्रचार करना सीखें - Step-by-Step learn to Propagate Poppy Flower in Hindi

Poppy Flower in Hindi: पॉपी का फूल कैसा होता है, कैसे उगाते हैं, देखभल कैसे करते हैं? संपूर्ण जानकारी यहाँ से लें।

poppy flower पॉपी का पौधा उगाने के लिए सबसे सही समय वसंत का होता है जब सर्दी की शुरुआत होती है और मिट्टी का तापमान कम होता है। पॉपी को उगाने के लिए सबसे अच्छा समय नवंबर होता है जिसमें (poppy flower) पॉपी का फूल अच्छे से उग सकते है।

Step 1:

पॉपी का बीज बाजार से खरीद के उसे हलके गुनगुने पानी में भिगो दें

Step 2:

भिगोए हुए पॉपी के बीज को उगाने से पहले उन्हें पानी से निकाल के अच्छे से निचोड़ लें

Step 3:

पॉपी को उगाने से पहले मिट्टी की अच्छी तरह से जांच कर लें की उनमे पत्थर और कंकड़ न हो

Step 4:

मिट्टी को समतल कर लें और पॉपी के बीज को जमीन पर छींट दें

Step 5:

पॉपी के बीज छीटने के बाद बीज को हलकी मिट्टी से ढक दें.

Step 6:

बोये हुए बीजों को हल्का नम कर दे और मिट्टी में पानी जमा ना होने दे

पॉपी का पौधा उगाना बहुत आसान है, बस आप उन्हें उगाने की विधि का ध्यान रखें। 40 से 50 दिन बाद पॉपी का पौधा उगने लगेगा और इसमें से फूल निकलने लगेंगे। इस बात का खासतौर से ध्यान रखिये की पॉपी को उगने के लिए कम पानी की आवश्यकता होती है और इसे उगने के कुछ दिन तक आपको पौधा नहीं दिख सकता है।

पॉपी को उगाने के लिए ठण्ड के मौसम में इसमें कुछ खाद भी दे सकते है जो पौधे की बढ़ने में मदद करेगा। खाद में एलोवेरा, चाय की पत्ती, गोबर और कुछ फलों के छिलके मिला कर पॉपी में डाल सकते है जो उसे उगने में मदद करेगा।

सारांश - Summary of Poppy Flower in Hindi

Poppy Flower से जुड़ें अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

हां, पॉपी के पौधे के कई प्रकार होते है जिसमे से अगर आप अफीम के पॉपी का सेवन करते हैं तो उससे नशा हो सकता है।

पोस्ता दाना खाने के कई फायदे है, जैसे की –

  • यह ओमेगा-6 फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर के साथ ही विटामिन बी, कैल्शियम और मैंगनीज से भरपूर है जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद है।
  • इसे खाने से सांस लेने की परेशानी कम होती है।
  • खांसी से भी आराम दिलाता है।

पॉपी के हिंदी में कई नाम होते है। इसे पोस्त (पॉपी, Poppy) या पोस्ता फूल कहा जाता है।

पोस्ता की खेती अक्टूबर से लेकर नवंबर तक के बीच में की जाती है। इसके लिए खेत को अच्छे से जोता जाता है और उसमें ढेर सारी खाद डाली जाती है।

1 किलो के पोस्ता के बीज का दाम ₹1500 तक होता है जो शहर और जगह के हिसाब से बदल सकता है।

Share this post

Comment (1)

  • Vasu Reply

    Everyone loves what you guys arre usually up too.
    This kind of clever work and exposure! Keep up the fantastic works guys. The blog is very informative.

    06/02/2024 at 8:40 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *